नारी शक्ति पुरस्कार

Dr. Bharti Kashyap

महिला दिवस पर Dr.Bharti Kashyap को राष्ट्रपति ने दिया नारी शक्ति पुरस्कार

 
नारी शक्ति पुरस्कार: महिला दिवस पर Dr.Bharti Kashyap को राष्ट्रपति ने दिया नारी शक्ति पुरस्कार
ख्यातनाम नेत्ररोग विशेषज्ञ डॉ. भारती कश्यप ने विगत 23 वर्षों से ग़रीबों तथा वंचितों की दृष्टिहीनता के खिलाफ एक जंग छेड़ रखी है तथा उन्होंने अपना जीवन झारखण्ड के सुदूरवर्ती क्षेत्रों बसे जनजातियों, आदिम जनजातियों और खास कर महिलाओं एवं बच्चों जीवन के उत्थान के लिए समर्पित किया है। एन.ए.बी.एच. प्रमाणित एक विश्व  स्तरीय नेत्र चिकित्सालय ‘‘कष्यप मेमोरियल आई हॉस्पिटल’’ की वह संस्थापक निदेशक है इस के साथ ही साथ उन्होंने ‘कश्यप मेमोरियल आई बैंक’ की स्थापना भी की है। इस ट्रस्ट के माध्यम से इन्होंने 17 लाख से अधिक सरकारी स्कूल के बच्चों के आंखों की जाँच करके एवं हजारों बच्चों को निःशुल्क चश्मा वितरण कर और सैकड़ो बच्चों का निःशुल्क मोतियाबिंद सर्जरी कर उनके नेत्रजनित समस्याओं का समाधान किया एवं उन्हें फिर से स्कूल जाने लायक बनाया । उन्होंने एक निःशुल्क चल-दृष्य-केन्द्र की स्थापना भी की है ताकि वर्षों से उपेक्षित असहायक लोगों तक पहुंचा जा सके।महिला दिवस पर डॉ. भारती कश्यप को राष्ट्रपति ने दिया नारी शक्ति पुरस्कार
 
निरंतर चलाये जानेवाले अपने नेत्रदान जागरुकता कार्यक्रमों की बदौलत आपने संयुक्त झारखण्ड-बिहार का प्रथम नेत्रदान प्राप्त करने तथा अपने पति डॉ. बी. पी. कश्यप के साथ सन् 1995 में प्रथम सफल नेत्र-प्रत्यारोपण करने का गौरव भी हासिल किया है। इतना ही नहीं डॉ. भारती कश्यप ने झारखण्ड के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में जनजातीय तथा आदिम जनजाति महिलाओं के बीच कई मेगा कैंपों का आयोजन करते हुए महिलाओं में होनेवाले सर्वाईकल कैंसर के प्रति जागरुकता फैलायी है तथा इन कैम्पों में विशेषज्ञों ने सर्ववाईकल कैंसर के प्राथमिक स्तर की पहचान कर सैकड़ों महिलाओं का ईलाज करके उन्हें मौत के मुंह से बाहर निकालने में सफलता पायी है।महिला दिवस पर डॉ. भारती कश्यप को राष्ट्रपति ने दिया नारी शक्ति पुरस्कार
 

महिला दिवस पर डॉ. भारती कश्यप को राष्ट्रपति ने दिया नारी शक्ति पुरस्कार

 
डॉ. भारती कश्यप के सामाजिक सरोकार और अन्धत्व के खिलाफ उनके जंग की प्रतिबद्धता ने सिर्फ प्रणम्य है वरन् झारखण्ड जैसे राज्य के लिए किसी वरदान से कम नहीं है।  एक चिकित्त्सक के व्यस्ततम जीवन के बीच उन्होंने न सिर्फ अपने परिवार के प्रति बल्कि समाज के प्रति भी अपने दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वाह करते हुए देश के समक्ष एक उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया है ताकि प्रत्येक भारतीय अपने सपनों का भारत अपनी आंखों से देख सके।Dr.Bharti Kashyap