गिरिडीह:- वीमेन डॉक्टर्स विंग आई. एम. ए. झारखण्ड एवं स्वास्थ्य विभाग झारखण्ड सरकार के संयुक्त तत्वधान मेगा महिला स्वास्थ्य शिविर” एवं “ज्योत से ज्योत जलाओ अभियान” का आयोजन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र,कल्याणडीह, पचम्बा में किया गया। कोडरमा के सांसद श्री. रविन्द्र राय, गिरिडीह के विधायक श्री. निर्भय कुमार शहाबादी एवं जमुआ के विधायक श्री. केदार हाजरा ने शिविर का उद्घाटन किया।  माननीय जमुआ विधायक श्री. केदार हाजरा के द्वारा वित् प्रदात डिजिटल वीडियो कॉलपोस्कॉप और क्रायो मशीन के सेट का उद्घाटन कर गिरिडीह की जनता को सुपुर्द किया गया।  

इस कार्यक्रम में पुरे झारखण्ड में वीमेन डॉक्टर्स विंग आई.एम.ए. झारखण्ड के द्वारा लगातार लगाये जा रहे मेगा महिला स्वास्थ्य शिविरों के लिए कोडरमा के सांसद श्री. रविन्द्र राय जी ने डॉ. भारती कश्यप को समानित किया।

इस शिविर में वीमेन डॉक्टर्स विंग आई. एम. ए. झारखण्ड की स्त्री रोग विशेषज्ञों की टीम द्वारा शिविर में आने वाले सभी महिला मरीजों का इलाज किया गया। इसके साथ ही कोडरमा, गिरिडीह, हजारीबाग एवं चतरा की सभी सरकारी स्त्री रोग विशेषज्ञों को सर्वाइकल प्री-कैंसर की जांच और उपचार का प्रशिक्षण भी प्रदान कराया गया।

इस शिविर में कश्यप मेमोरियल आई हॉस्पिटल की टीम के द्वारा ज्योत ए ज्योत जलाओ अभियान के तहत डायबिटिज, ग्लूकोमा एवं मोतियाबिंद से आँखों की रौशनी खो रहे मरीजों के आँखों की जांच की गयी। जिन मरीजों को आंखों के पर्दे की लेजर एवं आंखों में सुई की आवश्यकता पाई गयी उन्हें रांची स्थित कश्यप मेमोरियल आई हॉस्पिटल में लेजर एवं सुई मुफ्त दिया जायेगा।

डॉ. भारती कश्यप न बताया की इस शिविर को सफल बनाने में श्री. प्रदीप कुमार शर्मा, श्री. अशोक उपाध्याय, श्री. कामेश्वर पासवान, श्री. आशीष गुप्ता गिरिडीह के सिविल सर्जन डॉ. रामरेखा प्रसाद, डी.पी.एम. श्री. राजवर्धन रांची वीमेन डॉक्टर्स विंग की डॉ. रश्मि प्रसाद, डॉ. तनुश्री चकर्वर्ति गिरिडीह आई.एम.ए. के पदाधिकारीगण डॉ. विद्याभूषण, डॉ. बाल मुकुंद प्रसाद राय, डॉ. प्रदीप गिरिडीह वीमेन डॉक्टर्स विंग की डॉ. अमिता राय, डॉ. रेखा झा, डॉ. सुनीला, डॉ. मधु भूषण कोडरमा वीमेन डॉक्टर्स विंग की डॉ. सर्जना, डॉ. सरधा हजारीबाग वीमेन डॉक्टर्स विंग की डॉ. अनुभा शंकर, शिवानी यादव चतरा वीमेन डॉक्टर्स विंग की डॉ. वीनिता, अमृता अनुप्रिया का अहम् योगदान रहा।

 

कैंप का रिपोर्ट……………….

मेगा महिला स्वास्थ्य शिविर का रिपोर्ट……

कैंप में कुल 410 मरीजों की जाँच की गई। इन में से 60% मरीजों में ग्राभास्य ग्रीवा (सर्विक्स) में  सूजन  एवं इन्फेक्सन पाया गया। 6 महिलाओं में सर्वाइकल प्री-कैंसर पाया गया जिन्हें कैंप अस्थल पर ही कोल्पोस्कोप गाइडेड क्रायो ट्रीटमेंट दे कर उन्हें कैंसर से मुक्त किया गया। शिविर में आने वाली सभी महिलाओं को 1 महीने की आयरन फोलिक एसिड एवं एवं कैल्शियम की गोलियां मुफ्त बांटी गयी। जननांग से सफ़ेद स्त्राव यानी कि लुकोरिया से ग्रसित सभी महिलाओं को Kit 2 एवं Kit 6 की गोलियां मुफ्त में बांटी गयी।  

ज्योत से ज्योत जलाओ अभियान का रिपोर्ट……

कैंप में कुल 215 मरीजों की जाँच की गई। जिनमे से 45 लोगों में मोतियाबिंद पाया गया, ग्लूकोमा के 4 मरीज, आंसू की थैली में इन्फेक्शन के 5 मरीज तथा डायबिटिज की वजह से आँखों की रौशनी खो रहे 15 मरीज मिले हैं। सभी मरीजों का इलाज आयुषमन भारत योजना के तहत रांची स्थित कश्यप मेमोरियल आई हॉस्पिटल में किया जायेगा तथा जिन मरीजों को इंट्रा-विटेरियल इंजेक्शन की जरूरत पाई जाएगी उन्हें डॉ. भारती कश्यप के निजी प्रयाशों के द्वारा मुफ्त इंजेक्शन उपलब्ध कराया जायेगा।

हमें ख़ुशी है वीमेन डॉक्टर्स विंग आई.एम.ए. झारखण्ड के अथक प्रयाश के फलस्वरूप गिरिडीह सदर अस्पताल राज्य का 9वाँ सदर अस्पताल बन गया है जहाँ गर्भाशय ग्रीवा के प्री-कैंसर के पहचान एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध हो गई है। अभी तक 23 सदर अस्पताल में से 9 सदर अस्पताल में गर्भाशय ग्रीवा के प्री-कैंसर की जाँच एवं उपचार की व्यवस्था की जा चुकी है। सब से बड़ी बात यह है की हमारे देश में महिलाओं की जिस कैंसर से सबसे जादा मौत होती है वह है सर्वाइकल कैंसर। इस के कारन प्रति वर्ष हमारे देश में 67000 महिलाओं की मौत होती है।

वीमेन डॉक्टर्स विंग आई.एम.ए. झारखण्ड का उदेश्य है झारखण्ड राज्य को सर्वाइकल कैंसर मुक्त बनाना। इस दिशा में हम त्री-आयामी अभियान झारखण्ड में लगातार चला रहे हैं। इस में हम महिलाओं के सर्वाइकल प्री-कैंसर को पहचान कर कैंप साइड में ही कोल्पोस्कोप गाइडेड क्रायो ट्रीटमेंट से इसे पूरी तरह से खत्म करते हैं जिस से उस महिअला एवं उसके परिवार को एक नया जीवन मिलता है।

इस के अलावा इन शिविरों में निरंतर चितरंजन कैंसर इंस्टिट्यूट, कोलकाता, राजीव गाँधी कैंसर इंस्टिट्यूट एंड रिसर्च सेंटर, दिल्ली,  मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, दिल्ली एवं अमेरिका के वरीय स्त्री कैंसर रोग विशेषज्ञों की टीम को लाकर झारखण्ड के सभी सरकारी स्त्री रोग विशेषज्ञों को प्रशिक्षण भी प्रदान करा रहे हैं।

इस के अलावा सरकार को भी हमने सरकारी अस्पतालों में सर्वाइकल प्री-कैंसर के उपचार एवं पहचान के उपकरणों को लगाने के लिए प्रेरित किया है। जिसके फलस्वरूप अभी तक पुरे राज्य में 9 सरकारी अस्पतालों में गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर के पहचान एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध हो सकी है।

कोडरमा के सांसद श्री. रविन्द्र राय ने कहा की मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना एवं आयुष्मान योजना दूरदराज के लोगों तक तभी पहुंचेगा जब बड़े-बड़े अस्पताल दूर-दराज के इलाकों में जाकर कैंप लगायें। जैसे डॉ. भारती कश्यप ने यहाँ शिविर लगाया।

गिरिडीह के विधायक श्री. निर्भय कुमार शहाबादी ने स्वास्थ्य मंत्री से मांग की कि गिरिडीह सदर अस्पताल में ICU और बर्न यूनिट की स्थापना की जाये।

जमुआ के विधायक श्री. केदार हाजरा ने गर्भाशय ग्रीवा के प्री-कैंसर के पहचान एवं उपचार की मशीन गिरिडीह सदर अस्पताल को दान देने के बाद कहा की वह आशा करते हैं की इस मशीन का उपयोग गरीब महिलाओं के उपचार के लिए किया जायेगा।